राष्ट्रीय राजधानी के जंतर-मंतर पर धरना दे रहे किसानों ने पिया पेशाब

नई दिल्ली:  राष्ट्रीय राजधानी के जंतर-मंतर पर पिछले 38 दिनों से विरोध-प्रदर्शन कर रहे तमिलनाडु के किसानों का धैर्य शायद अब जवाब दे चुका है। वे अब अपने पीड़ा की ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए दिल दहलाने वाली कोशिशें कर चुके हैं। इसी कड़ी में शनिवार को मानव मूत्र पीकर अपना विरोध जताया। इसी के साथ इन किसानों ने चेतावनी दी है कि अगर उनकी अब भी नहीं सुनी गई, तो वे रविवार को मानव मल खाने की हद पार कर विरोध प्रदर्शन करेंगे। तमिलनाडु के ये किसान जंतर मंतर पर सूख राहत राशि देने और कर्जमाफी को की मांग को लेकर धरने बैठे हैं। सूखे के कारण उनकी फसल खत्म हो गई है। इन किसानों की मांग है कि सरकार उनके लिए सूखा राहत पैकेज जारी करे। किसान जंतर-मंतर में प्लास्टिक की बोतलों में मूत्र के साथ सामने आए। इससे पहले, नेशनल साउथ इंडियन रिवर लिंकिंग फॉर्मर्स एसोसिएशन के राज्य अध्यक्ष पी अय्याकनकु ने कहा, ‘तमिलनाडु में पीने के लिए पानी नहीं मिल रहा और प्रधानमंत्री मोदी हमारी प्यास की अनदेखी कर रहे हैं। ऐसा लगता है कि मोदी सरकार हमें इंसान ही नहीं समझती है।’

तटबन्धों की सुरक्षा हेतु विशेष चौकसी बरती जाए–जिला पदधिकारी

प0 चंपारण बेतिया सतेंद्र पाठक

बेतिया। पश्चिम चंपारण बेतिया समाहरणालय में जिला पदाधिकारी लौकेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में तटबंधों की सुरक्षा हेतु एक बैठक का आयोजन किया गया। जिला पदाधिकारी पश्चिम चंपारण लौकेश कुमार सिंह ने कहा कि पश्चिम चंपारण बाढ़ प्रभावित जिला है। यहां बरसात के समय में विभिन्न नदियों में बाढ़ आने की आशंका बनी रहती है। जिसके चलते तटबंधों के टूटने का खतरा रहता है। इसलिए पश्चिम चंपारण जिला में अवस्थित सभी तटबंधों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। पश्चिम चंपारण जिला के दो तटबंधों जिसमें चंपारण तटबंध एवं पिपरा-पिपरासी तटबंध शामिल है। का विस्तार क्षेत्र बढ़ा है। इसलिए दोनों तटबंध के पूरे विस्तार में सतत निगरानी रखी जाए। संपूर्ण तटबंध क्षेत्र की भौतिक निरीक्षण कर आपदा शाखा को प्रतिवेदित किया जाए। बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल, जल संसाधन प्रमंडल, जल निस्सरण प्रमंडल, नहर मंडल आदि के सभी कार्यपालक अभियंताओं को आगामी बरसात के मौसम में विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है। कटा क्षेत्रों एवं तटबंधों के संयुक्त निरीक्षण हेतु प्रशासी एव अभियंत्रण पदाधिकारियों की संयुक्त टीम गठित कर दी गई है। जिलाधिकारी ने अनुमंडल पदाधिकारी एवं बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को संयुक्त रुप से सभी तटबंधों की भौतिक निरीक्षण कर प्रतिवेदन देने को कहा गया है। उन्होंने आगे कहा कि  पूर्व में क्रय किए गए सरकारी नावो की जांच कर ली जाए। इसके साथ ही जिला में उपलब्ध निजी नाव एवं नाविकों का भी निबंधन करा ली जाए। पॉलिथीन सीट की आवश्यकता अनुसार क्रय करने की कार्रवाई की जाए। राज्य खाद्य निगम से समन्वय करके खदानों की उपलब्धता सुनिश्चित कर ली जाए। बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी को आकस्मिक फसल योजना तैयार कर लेना, जिला पशुपालन पदाधिकारी को पर्याप्त मात्रा में पशु की दवा/पशु चारा क्रय करने हेतु करवाई करने, सिविल सर्जन को  मानव दवा की उपलब्धता एवं मोबाइल मेडिकल टीम का गठन करने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि बाढ़ पूर्व एहतियाती कदम उठाने की अत्यंत आवश्यकता है । बाढ़ की गतिविधियों पर नजर रखने हेतु जिला में बाढ़ नियंत्रण कक्ष कि स्थापना किया जाएगा एवं आपातकालीन संचालन केंद्र को पुनः क्रियान्वित करने को कहा गया है। बाढ़ पूर्व तैयारी की नियमित समीक्षा करेंगे। बाढ़ से प्रभावित होने वाले अचलों के अंचलाधिकारियों यह अनुमंडल पदाधिकारियों को बाढ़ से बचाव हेतु सारी ऐहतियाती कदम उठाने का निर्देश दिया गया है ।सभी संबंधित कार्यपालक और अभियंताओं को अपने अपने कार्य क्षेत्र में निरंतर गतिशील रहकर बाढ़ नियंत्रण हेतु किए जा रहे कार्यों पर निगरानी रखने एवं आपदा कोषांग को ससमय प्रतिवेदन देने हेतु सख्त हिदायत दिया गया है। इस बैठक में अपर समाहर्ता, निदेशक, डीआरडीए, डीपीआरओ, जिला आपदा पदाधिकारी सहित कई पदाधिकारी उपस्थित रहे हैं।

कलश यात्रा के साथ ग्यारह दिवसीय सूर्यनारायण महायज्ञ का शुभारंभ

मुंगेर जिला के हवेली खड़गपुर प्रखंड के शामपुर दुर्गा स्थान मंदिर के प्रांगण में सोमवार को कलश यात्रा के साथ ग्यारह दिवसीय सूर्यनारायण महायज्ञ का शुभारंभ हुआ. कार्यक्रम का उद्घाटन प्रखंड प्रमुख अनीता यादव ने फीता काटकर किया. उद्घाटन से पूर्व अयोध्या से आए संयासी ओम प्रकाश शास्त्री के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में महिलाओं ने सुल्तानगंज गंगा में स्नान कर जल भरकर पैदल यात्रा कर यज्ञ स्थल पर पहुंचे. कलश यात्रा में कोमल, आरती, सोनम, मनीषा, मीना देवी, सोनी देवी, संगीता देवी, राधा देवी, बंदना देवी, निशा देवी एवं अन्य सैकड़ों महिलाओं ने भाग लिया. इस अवसर पर शामपुर थाना अध्यक्ष नीरज कुमार, कृष्ण मुरारी, पंचायत समिति सदस्य संगीता देवी, राकेश यादव, मगन देव मंडल, यज्ञ समिति के अध्यक्ष त्रिभुवन प्रसाद सिंह, सचिव सुरेश प्रसाद मंडल, किशोरी यादव, नरेंद्र सिंह, भगवान सिंह, मुकेश पासवान, मनोरंजन पासवान, भोला तांती, सुरेंद्र पासवान, नवीन सिंह, आदि यज्ञ स्थल पर आकर्षण के लिए 101 देवी देवताओं का प्रतिमा स्थापित की गई, टावर झूला, मौत का कुआं, ड्रगन नाव, मीना बाजार सहित प्रवचन एवं रासलीला का आयोजन किया गया.

टेंपो पलटने से 15 वर्षीय बच्चे की मौत ।

प0 चंपारण बेतिया सतेंद्र पाठक

बेतिया। पश्चिमी चंपारण, बेतिया मुफ्फसिल थाना अंतर्गत बेतिया मोतिहारी मुख्य मार्ग एनएच 28 पर राजा लाइन होटल के पास टेंपो पलटने से उसमें सवार 15 वर्षीय बच्चे की मौत हो गयी। घटना  11:00 से 12:00 बजे के बीच की बताई जा रही है। मृतक पूर्वी चंपारण के सुगौली थाना अंतर्गत ग्राम श्रीपुर का रहने वाला था। वह अपने गांव से सिकटा बाजार अपने रिश्तेदार के यहां जाने के क्रम में राजा लाइन होटल के पास बस से साइड लेने के चक्कर में टेंपो पलटने से बच्चे की मौत हो गई। मृतक का नाम मुजीबुर्रहमान पिता जाकिर हुसैन बताया जा रहा है। मुख्य सड़क का ऊँचीकरण तथा चौड़ीकरण तो हो गया किन्तु एजिंग में मिट्टी अथवा ईंट सोलिंग नही होने के कारण अक्सर दुर्घटना होती रहेगी।

सोमालिया में समुद्री दस्युओं के चंगुल से छुड़ाए गए 8 भारतीय

मोगादीशू :-  सोमालियाई सेना ने बुधवार को समुद्री दस्युओं द्वारा बंधक बना लिए गए आठ भारतीय नागरिकों को रिहा करा लिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। दो दिन पहले समुद्री दस्युओं ने सोमालिया के समुद्रतटीय शहर होब्यो में भारतीय नागरिकों को बंधक बना लिया था। होब्यो के पुलिस प्रमुख बशीर एल्मी ने बताया, ‘‘हमारे सुरक्षा बलों ने बुधवार की सुबह समुद्री दस्युओं द्वारा एल हुर इलाके से बंधक बनाए गए आठ भारतीय नागरिकों को रिहा करा लिया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने इस अभियान के दौरान चार समुद्री दस्युओं को भी गिरफ्तार किया है। समाचार पत्र ‘न्यूयार्क टाइम्स’ की रिपोर्ट में कहा गया है कि सोमालिया के समुद्री दस्युओं ने पिछले कुछ महीनों के दौरान कई पोतों पर कब्जा कर लिया, जिससे हिंद महासागर में फिर से सोमालियाई दस्युओं के सक्रिय होने का भय पैदा हुआ है। एल्मी ने बताया कि सोमवार को भारतीय पोत एम. एस. वी. अल कौसर को लेकर सोमालियाई सेना और समुद्री दस्युओं के बीच मुठभेड़ हुई।

पाक ने कुलभूषण जाधव को सुनाई मौत की सजा,भारत ने सुनियोजित हत्या बताया

इस्लामाबाद :-  पाकिस्तान में सोमवार को पूर्व नौसैनिक कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुना दी गई। पाकिस्तान ने एक सरकारी नोट में कहा कि रॉ के एजेंट और नेवी अफसर कमांडर कुलभूषण सुधीर जाधव उर्फ हुसैन मुबारक पटेल को मौत की सजा सुनाई गई है। उन पाकिस्तान के खिलाफ विध्वंसक गतिविधियां चलाने और जासूरी करने का आरोप था। भारत ने इन सभी आरोपों को खारिज किया था। कुलभूषण जाधव को पिछले वर्ष 3 मार्च, 2016 को मशकेल (बलूचिस्तान) से गिरफ्तार किया गया था। पाकिस्तान के जनरल कमर जावेद ने इस बात पर मुहर लगा दी है। जाधव पर पाकिस्तान आर्मी एक्ट के फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल के जरिए मुकदमा चलाया गया और मौत की सजा सुनाई गई। इस सजा को सोमवार को आर्मी चीफ जनरल कमर अहमद बाजवा ने कन्फर्म किया है। यह भी बताया गया कि जाधव पर सभी आरोप साबित हुए हैं। उन्होंने मजिस्ट्रेट और कोर्ट के सामने कबूल किया कि रॉ ने उन्हें विध्वंसक और जासूसी गतिविधियों को प्लान करने, कोऑर्डिनेट करने और ऑर्गनाइज करने की जिम्मेदारी दी थी। पिछले साल पाकिस्तानी सेना ने भी जाधव का इकबालिया बयान जारी किया था, जिसमें कथित रूप से कहा गया था कि जाधव भारतीय नौसेना के सेवारत अधिकारी हैं। भारत ने यह तो स्वीकार किया था कि जाधव रिटायर्ड नौसेना अधिकारी हैं, लेकिन इस आरोप का खंडन किया था कि वह सरकार से किसी भी रूप से जुड़े थे।

बलूचिस्तान में हुई थी गिरफ्तारी…
कुलभूषण जाधव को ईरान से पहुंचने के बाद बलूचिस्तान में कथित तौर पर गिरफ्तार किया गया था। क्वेटा के आतंकवाद निरोधक विभाग ने जाधव के खिलाफ मामला दर्ज किया था। जाधव को रिसर्च एंड अनालेसिस विंग (रॉ) का एजेंट होने क आरोप में बलूचिस्तान के चमान इलाके से गिरफ्तार किया था। चमान अफगानिस्तान की सीमा से सटा है। पाकिस्तान के मुताबिक, जाधव का मकसद पाकिस्तान को अस्थिर करना और इस देश के खिलाफ जंग छेडऩा था। बलूचिस्तान और कराची में शांति बहाल करने की कोशिशों में बाधा पहुंचा कर यह काम किया गया। आरोपी को बचाव के लिए कानूनी प्रावधानों के मुताबिक, अफसर मुहैया कराया गया था।

सीरिया हमले से भडक़े रूस ने कहा, ‘अमेरिका से टकराव बस एक इंच दूर’

मॉस्को :- डॉनल्ड ट्रंप द्वारा सीरिया पर मिसाइल अटैक किए जाने का सबसे ज्यादा असर अमेरिका और रूस के संबंधों पर पड़ा है। विश्व की ये दो बड़ी महाशक्तियां सैन्य टकराव की स्थिति की ओर बढ़ती दिख रही हैं। अमेरिका शरयात एयरबेस पर 59 टॉमहॉक क्रूज मिसाइल दागने के बाद अमेरिका और रूस का आपसी तनाव खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है। रूस ने अमेरिका के साथ अपना हॉटलाइन संपर्क भी काट दिया है। इस हॉटलाइन का इस्तेमाल करके ही रूस और अमेरिका सीरिया में सीधी भिड़ंत से बचने के लिए अपनी-अपनी सैन्य कार्रवाई के बारे में एक-दूसरे को सूचित करते रहे हैं। रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मिदवेदेव ने अमेरिका को चेतावनी दी है कि उसके द्वारा किए गए इस हमले के कारण मॉस्को और वॉशिंगटन के बीच सैन्य टकराव केवल एक इंच दूर रह गया है।

रूस बढ़ाने लगा सीरिया में अपनी सैन्य क्षमता व हथियार
रूस ने क्रूज मिसाइल्स से लैस अपने लड़ाकू जहाजों को ब्लैक सी से लाकर सीरिया के बंदरगाह पर तैनात करने का आदेश जारी किया है। इसके अलावा पुतिन ने सीरिया में पहले से ही बड़ी संख्या में तैनात सतह से हवा में मार करने वाली एस-400 और एस-300 मिसाइलों की नई खेप को भी तैनात करने का निर्देश दिया है। उन्होनें कहा है कि इन मिसाइलों और लड़ाकू विमानों को रूसी फौज और असद की सीरियाई सेना की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा। साफ है कि रूस सीरिया में अपनी सैन्य क्षमताएं और मजबूत करने में जुट गया है। पुतिन द्वारा दिए गए संकेतों से साफ है कि सीरिया को लेकर वह अपने रुख में किसी तरह की नर्मी लाने का इरादा नहीं रखते हैं।

रूस का इशारा साफ, अमेरिका ने किया और हमला किया, तो बर्दाश्त नहीं
रूस ने हालांकि अमेरिकी हमले के दौरान अपने एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइलों को सक्रिय नहीं किया है, लेकिन अपना गुस्सा जताकर उसने साफ कर दिया है कि अब असद सरकार पर किए गए किसी भी हमले पर वह चुप नहीं बैठेगा। एक रक्षा विशेषज्ञ ने बताया, ‘व्लादीमिर पुतिन की पहचान बेहद सख्त राष्ट्राध्यक्ष की है। वह अपने दोस्तों के साथ खड़े रहते हैं। अगर अमेरिका ने अब असद की सेना पर हमला किया, तो रूस चुप नहीं बैठ सकता है। ट्रंप प्रशासन को इस मामले में बेहद सर्तकता बरतनी चाहिए।’ मालूम हो कि असद सरकार के पास 26 ऐसे एयरबेस हैं, जिन्हें वह विरोधी गुट और नागरिकों के खिलाफ हमले करने के लिए इस्तेमाल करती है।

ट्रंप ने कहा, मेक्सिको सीमा पर दीवार बनकर रहेगी

वॉशिंगटन:अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मेक्सिको की सीमा पर दीवार बनाने के अपने वादे को एकबार फिर दोहराया है. ट्रंप की ओर यह आश्वासन ऐसी खबरों के बीच आया है, जिनमें कहा गया था कि सरकार की आर्थिक हालत को चरमराने से बचाने के लिए उसकी योजना को रद्द किया जा सकता है. ट्रंप ने मंगलवार (25 अप्रैल) को व्हाइट हाउस में संवाददाताओं को बताया,यह दीवार बनकर रहेगी.ट्रंप की ये टिप्पणियां ऐसी खबरों के बीच आया है, जिनमें कहा गया था कि सरकार की आर्थिक हालत को चरमराने से बचाने की रणनीतिक के तहत रिपब्लिकन पार्टी दीवार को लेकर अपनी योजना पर पुनर्विचार कर रही है. निर्माण कार्य शुरू करने के लिए वित्त उपलब्ध करवाने पर ट्रंप की ओर से दिए जा रहे जोर ने व्यय विधेयक को जोखिम में डाल दिया है. ट्रंप ने कहा,अगर किसी के भी मन में सवाल है तो जान लीजिए, दीवार बनकर रहेगी और यह दीवार नशीले पदाथरें को रोकेगी. ये ऐसे बहुत से लोगों को यहां आने से रोकेगी, जिन्हें यहां नहीं होना चाहिए.यह दुनिया में मानव तस्करी पर बड़ा असर डालेगी. मानव तस्करी एक ऐसी समस्या है, जिसके बारे में कोई बात नहीं करता लेकिन यह एक ऐसी समस्या है, जिससे बुरी समस्या इस दुनिया के इतिहास में कभी हुई ही नहीं. ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी गृहसुरक्षा मंत्री जॉन कैली ने उन्हें बताया है कि देश को निश्चित तौर पर दीवार की जरूरत है.

​इफ्तार पार्टी का आयोजन

निरंजन कुमार  सिमरी बख्तियारपुर
हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी अनुमंडल मुख्यालय स्थित ज्ञानस्थली विद्या निकेतन परिसर में द् रमजान के पाक महीनें में रोजेदार भाइयों के लिये इफ्तार पार्टी का आयोजन  किया गया. जिसमे नगर के विभिन मुहल्ले से अल्पसंख्यक समाजके रोजेदारों ने हिस्सा लिया. एक नई मिसाल इन युवाओं के द्वारा समाजिक सोहार्द का बेहतरीन उदाहरण.  इस कार्यक्रम में नगरपंचायत के अल्पसंख्यक समाज के रोजेदारों लोगों की बड़ी तादाद में उपस्तिथि रही. विद्यालय के संरक्षक डॉक्टर प्रिय नंदन प्रसाद ने बताया की इफ्तार पार्टी से जहां रोजेदारों को दावत खिला कर पुण्य मिलता है वही समाज में हिंदू मुस्लिम एकता का भाईचारा बढ़ता है उन्होंने कहा कि प्रत्येक वर्ष विद्यालय परिसर में दावते इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जाता रहा है| इफ्तार पार्टी में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने रोजा तोड़ा इस अवसर पर विद्यालय संरक्षण डॉक्टर प्रिय नंदन प्रसाद पीयूष प्रसाद अमन कुमार फिरोज आलम इकराम आलम मेराज नसीम सहित सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित थे

ABVP ने मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री का पुतला फूका

गजेन्द्र कुमार 

सोनवर्षा राज प्रखंड अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सोनवर्षा नगर इकाई के द्वारा इंटरमीडिएट रिजल्ट में हुए व्यापक धांधली एवं छात्रों पर लाठीचार्ज के विरोध में नगर कार्यकारिणी सदस्य दौलत कुमार के नेतृत्व में गुरुवार को प्रतिकार मार्च निकाल निकाल कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी के पुतले के साथ पूरे बाजार भ्रमण कर भगत सिंह चौक पर पुतला दहन किया. पुतला दहन कार्यक्रम के बाद भीड एक सभा में तब्दील हो गई .सभा की अध्यक्षता करते हुए नगर मंत्री विकास कुमार विश्वास ने कहा कि नीतीश कुमार ने शिक्षा के स्तर को इस प्रकार गिरा दिया है कि आज देशभर में बिहारी छात्रों की खिल्ली उड़ाई जा रही है जो बिहार पूरे विश्व को शिक्षा देने का काम किया वही आज शिक्षा के मामले में सरकार फुश हो गई है इसमें विद्यार्थी फेल नहीं हुए हैं बल्कि इसमें हमारी सरकार फेल हुई है और हम सभी शिक्षा मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हैं वही राज्य कार्यकारिणी सदस्य आशीष कुमार सिंह ने कहा कि स्कूटनी के नाम पर बिहार सरकार जो छात्रों से रूपया ले रही थी उसी के विरोध में पटना में प्रदर्शन कर रहे विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं पर निकम्मी सरकार ने बड़ी बेरहमी से लाठी चार्ज करवाया जिसमें हमारे कई साथी घायल हो गए जिन्हे पटना के पीएमसीएच में इलाजरत करवाया गया .आज उसी के विरोध में प्रतिकार मार्च विद्यार्थी परिषद के द्वारा नीतीश कुमार एवं अशोक चौधरी का पुतला दहन  किया गया. वही उपस्थित भीड़ को संबोधित करते हुए नगर सह मंत्री अमन कुमार गुप्ता ने कहा कि पटना में एबीवीपी का प्रदर्शन बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के पास कर रहे हमारे साथी कार्यकर्ताओं पर बिहार सरकार की निकम्मी पुलिस बल प्रयोग किया गया साथ ही अंधाधुन लाठी भी चटकाय गए जिसमें हमारी कई साथियों को गंभीर चोट आई वही मौके पर नगर अध्यक्ष अवध किशोर झा ,नगर सह मंत्री शम्मी कुमार ,जय कुमार, विजेंद्र कुमार, कोषाध्यक्ष प्रिंस कुमार ,मीडिया प्रभारी गोलू ठाकुर, प्रियांशु सिंह, प्रेम सिंह ,केशव कुमार, कन्हैया राठौर ,यशवंत, संगत , नगर एस एफ डी अभिषेक उर्फ मुनमुन दीपक ,चंदन ,सरोज ,रोशन, नितिन कुमार सिंह, सोमनाथ झा , कॉलेज अध्यक्ष अखिलेश कुमार, पिंटू यादव, रिषू कुमार,  अभिभावक लक्ष्मण स्वर्णकार ,रवि सहित सैकड़ों कार्यकर्ता अभाविप के मौजूद रहे.