कटिहार :- जिले के तीनों अनुमंडल में, बुनयादी केंद्र का जल्द होगा निर्माण :- जिला पदाधिकारी

रिपोर्ट तौकीर रजा कटिहार :- दिव्यांगजनों, वृद्धजनों एवं विधवाओं को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने एवं उन्हें समाज की मुख्यधारा में लाने के उद्देश्य से बिहार समेकित सामाजिक सुरक्षा सुदृढ़ीकरण परियोजना के माध्यम से राज्य सरकार ने बुनियाद केंद्रों का संचालन प्रारंभ किया है। राज्य के सभी 101 अनुमंडलों में बुनियाद केंद्रों की स्थापना की जानी है। जिले के तीनों अनुमंडलों में बुनियाद केंद्र भवन का निर्माण तेजी से चल रहा है। बुनियाद केंद्र के कार्यों की समीक्षा करते हुए जिला पदाधिकारी, श्री मिथिलेश मिश्र ने उक्त आशय की जानकारी देते हुए कहा कि कटिहार शहर स्थित विनोदपुर के निजी मकान में बुनियाद केंद्र फिलहाल संचालित है।

उन्होंने इस केंद्र के बेहतर प्रचार-प्रसार की आवश्यकता बताई। उन्होंने बताया कि बुनियाद केंद्र के माध्यम से न केवल केंद्र में आने वाले वृद्धजन, विधवाओं और दिव्यांगजनों को बल्कि सांस्थानिक सेवा के तहत गांव और पंचायतों तक पहुंच कर उन्हें आवश्यक सेवाएं मुहैया कराना है। इसके लिए ‘बुनियाद संजीवनी सेवा’ भी प्रारंभ की जानी है, जो मोबाइल वाहन के माध्यम से क्रियान्वित होंगी। उन्होंने बताया कि बुनियाद केंद्रों पर लक्षित समूह के लिए घर के अंदर खेले जाने वाले खेलों, समूह चर्चा, सार्वजनिक त्योहारों का आयोजन, समाचार पत्र पत्रिकाओं और पुस्तकों की व्यवस्था, चित्रकारी, दस्तकारी आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी है, ताकि वृद्धजनों, विधवाओं एवं दिव्यांगजनों को सृजनात्मक गतिविधियों में लगाए रखा जाए एवं उनका स्वस्थ मनोरंजन हो सके। साथ ही जीवन के प्रति उनके अंदर उत्साह बना रहे उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के सहयोग से बिहार सरकार की ओर से सामाजिक सुरक्षा सुदृढ़ीकरण परियोजना के तहत बुनियाद केंद्रों का प्रत्येक अनुमंडलों में स्थापना की कार्रवाई चल रही है।

बुनियाद केंद्रों पर वृद्धजनों के लिए आवश्यक कानूनी एवं अन्य प्रकार के परामर्श के साथ-साथ बुढ़ापे में आवश्यक बीमारियों यथा: घुटने दर्द की समस्या, गठिया आदि के लिए फिजियोथेरेपी की व्यवस्था, वाक् तथा श्रवण संबंधी जांच, आंखों की जांच एवं उसके इलाज की व्यवस्था, कृत्रिम अंग एवं अन्य सहायक उपकरण संबंधी सुविधाएं, भावनात्मक परामर्श तथा रेफरल सेवाएं आदि की सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इसके साथ-साथ दिव्यांगजनों के लिए दिव्यांगता से संबंधित समस्याओं के आकलन एवं प्रमाणीकरण में सहयोग, निदान, थेरेपी आदि की व्यवस्थाओं के साथ-साथ कौशल प्रशिक्षण की भी सुविधा रहेगी। विधवाओं की सुविधा के लिए बुनियाद केंद्रों पर रोजगारोन्मुखी कौशल विकास प्रशिक्षण, अस्थाई रात्रि विश्राम व्यवस्था, रोजगार हेतु मार्गदर्शन, स्वयं सहायता समूह से जुड़ाव में सहायता के साथ-साथ सामाजिक पुनर्वास की व्यवस्था आदि भी की जा सकेगी। जिला पदाधिकारी ने सरकार की इस महत्वाकांक्षी परियोजना को जिले में मूर्त रुप देने हेतु प्रचार प्रसार की आवश्यकता पर बल दिया। साथ ही बताया कि बहुत जल्द ही जिले के तीनों अनुमंडलों में बुनियाद केंद्र भवन का निर्माण पूर्ण हो जाएगा। समीक्षा बैठक में जिला पदाधिकारी के साथ-साथ प्रभारी पदाधिकारी राजस्व, जिला परिवहन पदाधिकारी, बुनियाद केंद्र के जिला परियोजना प्रबंधक सहित सभी अंचल पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

x

Check Also

चीर नदी के रणगांव और पड़रिया घाट से अवैध बालू खनन को

बांका :- बालू उठाव को लेकर नदी में धरना पर बेठे ग्रामीण । इस दौरान आक्रोशित लोगों ने क्षेत्रीय विधायक मनीष कुमार, रणगांव पंचायत के ...