ड्यूटी के दौरान गश खाकर गिरे विधि लिपिक की अस्पताल में मौत

रोसड़ा (समस्तीपुर) ड्यूटी के दौरान गर्मी से गश खाकर गिरे विधि लिपिक की अस्पताल में इजाल के दौरान मौत हो गई. अस्पताल प्रशासन पर इलाज में कोताही बरतने के आरोप में न्यायालयकर्मियों ने अस्पताल में शोर गुल मचाया. सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष चतुर्वेदी सुधीर कुमार ने लोगों को समझा बुझाकर मामले को शांत किया.थानाध्यक्ष ने शव को परिजन के हवाले किया, जबकि अस्पताल उपाधीक्षक ने निजी एंबुलेंस की व्यवस्था कर शव को घर तक भिजवाया. प्राप्त जानकारी के अनुसार विभूतिपुर थाना क्षेत्र के कल्याणपुर निवासी श्याम नंदन प्रसाद स्थानीय व्यवहार न्यायालय में विधि लिपिक का कार्य करते थे. अन्य दिनों के तरह आज भी भली भांति अपना कार्य कर रहे थे. गर्मी के गश से अचानक वह गश्त खाकर गिर गए. सहकर्मियों ने पानी का छींटा मारकर कुछ सामान्य स्थिति में लाकर उन्हें अनुमंडलीय अस्पताल में इलाज के लिए लाए थे. जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.मौत की खबर सुनकर साथ आए सहकर्मी आक्रोशित हो गए. डॉक्टर एवं अस्पताल कर्मियों पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए शोरगुल मचाने लगे. न्यायालय कर्मी विश्वनाथ प्रसाद कर्ण ने आरोप लगाते हुए कहा कि ऑक्सीजन लगाने में अस्पताल कर्मी ने काफी विलंब किया. उचित इलाज के अभाव में ही मौत हुई है .अन्य कई कर्मी भी इसी तरह का आरोप लगा रहे थे. माहौल को बिगड़ता देख डीएस डीके निर्मल ने प्रशासन को इसकी जानकारी दी. सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष ने लोगों को शांत कराकर मामला को शांत कराया. एम्बुलेंस के अभाव में निजी एम्बुलेंस बुला तुरंत शव को उसके परिजन को सौंपते हुए कल्याणपुर उसके घर भेजा गया.डीएस डीके निर्मल ने कहा कि पेशेंट को हार्ट अटैक का दौरा आया था. जिसके चलते उनकी मौत हुई है.लापरवाही के आरोप को इन्होंने बेबुनियाद बताया. साथ ही कहा कि पेशेंट के साथ आने वाले लोग बेवजह अस्पताल प्रबंधन व डॉक्टर पर दोष मढ़ देते है.अपनी क्षमता के अनुसार सभी कार्य सही ढंग से किया जाता है.दूसरी तरफ इसके पूर्व एक और महिला को गंभीरावस्था में हॉस्पिटल से सदर अस्पताल के लिए रेफर किया गया था.उक्त महिला भी गर्मी के उमस से गश खाकर बेहोश हो गयी थी.डॉक्टर ने उसके भी बचने की उम्मीद नही बताया.इस मरीज का नाम रामपरी देवी ,उम्र 60 वर्ष और घर रोसड़ा शहर के महादेवमठ मुहल्ला बताया गया .अस्पताल के एम्बुलेंस से उसे समस्तीपुर भेजने की बात कही.

x

Check Also

चीर नदी के रणगांव और पड़रिया घाट से अवैध बालू खनन को रोका ग्रामीणों ने

बांका :- बालू उठाव को लेकर नदी में धरना पर बेठे ग्रामीण । इस दौरान आक्रोशित लोगों ने क्षेत्रीय विधायक मनीष कुमार, रणगांव पंचायत के ...