●श्मशान भुमि के दखल को लेकर सेपन में तनाव, सेपन पुलिस चौकी का उत्तेजित लोगों ने किया घेराव ●

राजु मिश्रा  

समाचार संगम,मोरानहाट, ५ फरवरी :-चराईदेव जिले के सेपन पुलिस चौकी अंतर्गत श्मशान भुमि के दखल को लेकर सेपन में तनाव का माहौल है वहीं सैकड़ो उत्तेजित पुरुष महिलाओं ने सेपन पुलिस चौकी का घंटों घेराव कर जमकर नारेबाजी की । जानकारी के अनुसार माहमारा राजस्व चक्राधिकारी कार्यालय अंतर्गत सेपन-सोनपुड़ा सड़क के किनारे सेपन चाय बागान की दस बीघा भुमि का बरतानी के लोग 1911 से श्मशान के रुप में इस्तेमाल करते आ रहे है । इसबीच लोगों ने उक्त भुमि में से साढ़े चार बीघा भूमि खुद्र प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र बनाने के लिए दी थी । मगर वर्तमान स्वास्थ केन्द्र परिचालना समिति के अध्यक्ष तथा मौजादार जतीन लेखारु ने चालाकी से पुरी भुमि चिकित्सालय के नाम पर कर ली एवं 3 फरवरी को सारा भुमि का फेंसिंग मार दिया । श्मशान भुमि पर दुसरों का कब्जा देख बरतानी वासियों ने 4 फरवरी को उत्तेजित होकर सभी खंभे और फेंसिंग उखाड़ फेंका । जतीन लेखारु ने इस शंदर्भ में मोरानहाट थाने में मामला दर्ज करवाया, पुलिस मामले की जांच हेतु कल साम बरतानी लाईन पहुंची थी जिसे लेकर वहां के लोग क्षुब्ध हो गए और आज सेपन पुलिस चौकी का घेराव कर जमकर नारेबाजी की । स्थानीय भाजपा नेता दीपक तांती के नेतृत्व में प्रदर्शनकारियों ने जतीन लेखारु के खिलाफ एक मामला भी दर्ज करवाया । मौके पर पहुंची माहमारा राजस्व चक्राधिकारी तनभी अहमद ने प्रदर्शनकारियों को किसी तरह समझाया और 6 फरवरी को दोपहर 12 बजे बातचीत कर मामले को सुलझाने का आश्वासन दिया । दीपक तांती ने बताया कि श्मशान की पुरी जमीन जालसाजी से चिकित्सा केन्द्र के नामकर उसका दाग और पट्टा नंबर भी जतीन लेखारु ने बनवा लिया है । ऐसे में श्मशान की भुमि अगर सेपन बरतानी लाईन के लोगों को वापस नहीं सौंपी गई तथा जतीन लेखारु को सीघ्र गिरफ्तार नहीं किया गया तो प्रदर्शन कारी तीब्र जंगी आन्दोलन का पथ अख्तियार करने की चेतावनी दी है । बहरहाल श्मशान भुमि दखल मामला सेपन क्षेत्र में तनाव बनाए हुए है ।