●मोरान गजपुरीया में चिते के हमले में चार घायल ● क्षेत्र में चिते का आतंक व्याप्त ●

राजु मिश्रा  

समाचार संगम,मोरानहाट, ५ फरवरी :-डिब्रूगढ़ जिले के खोवांग आंचलिक वन अधिकारी कार्यालय अंतर्गत गजपुरीया में चिते के हमले में चार लोग घायल हो गए । घायलों में मोरान फटिकासुवा निवासी प्रांजल चुतीया 19, तिनसुकिया का जगत गोहांई 38, माहमारा कुंदारु गांव का मनीकांत बरुवा 40 तथा लुकुमारी गांव का मुकुट गोहांई 40 शामिल है । सभी घायलों को तत्काल तिलैई एफ आर यु तथा मोरान मेडिकल सेंटर में प्राथमिक उपचार के बाद डिब्रूगढ़ स्थित असम चिकित्सा महाविद्यालय प्रेषित किया गया । सभी घायल तेल अनुंसधान दल में श्रमिक एवं कर्मचारी के रूप में कार्यरत है तथा उक्त क्षेत्र में तेल की खोज में जुटे थे तभी 1 नंबर गजपुरीया चुतीया गांव निवासी दुर्गेश्वर चुतीया के चाय बागान और झुरमुट में छिपे चिते ने हमला कर एक एक कर चार लोगों को घायल कर दिया । इस बीच गांव में चिते का आतंक फैल गया और लोगों ने हाथों में लाठी, डंडा, दाव आदि लेकर क्षेत्र का घेराव किए रखा । इसबीच मौके पर पहुंचे खोवांग वन अधिकारी कार्यालय तथा खोवांग पुलिस का दल मौके पर पहुंच परिस्थिति को संभाला । वन विभाग ने मौंके पर एक पिंजड़ा स्थापित कर चिते के उसमें फंसने की मंशा व्यक्त की है । क्षेत्र में पहली बार निकले चिते ने एक बकरी को मार कर खा गया, बकरी के कुछ अवशेष अब भी मौके पर पड़े थे ।