मुख्यमंत्री के करीबी की बकरियों की चोरी से असम पुलिस महकमे में हड़कंप, स्नीफर डाग स्काड लाकर हाई प्रोफाइल जांच, बकरियों की तीन पैर बरामद

राजु मिश्रा  

समाचार संगम,मोरानहाट, १ फरवरी :-आतंकवाद एवं आतंकवादी गतिविधियों से त्रस्त असम में बड़ी बड़ी चोरी, डकैती, लुटपाट जैसे बारदातों के बाद भी जल्द हरकत में ना आनेवाली असम पुलिस महकमे में मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के करीबी के घर बकरियों की चोरी के बारदात से पुरी तरह तत्पर नजर आई । सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री कार्यालय से बकरियों की चोरी की जानकारी मिलते ही असम पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया तथा पुलिस महकमे के आलाधिकारीयों ने शिमलगुड़ी से खोजी कुत्ते का दस्ता ( स्नीफर डाग स्काड ) प्रेषित किया । चराईदेव जिले के मोरानहाट थानाध्यक्ष बिरिंषिं कुवंर स्नीफर डाग दल के साथ अभियान में उतरे और आखिरकार चुराई गई बकरियों का तीन पैर बरामद करने में सफलता पाई । गौरतलब हो कि मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल का करिबी मोरान विष्णुपुर निवासी विजय सोनोवाल का पुत्र जयंत सोनोवाल के घर से 31 जनवरी की प्रातः लगभग 3 बजे दो बकरियों की चोरी हुई थी । दस फुट उंची पक्के की चारदीवारी के अंदर बकरियों के दरबे में ही बकरियों का गला काट दिया गया । उसके बाद बकरियों को ले जाया गया । इस शंदर्भ में मोरानहाट थाने में धारा 380 केश नंबर 07/18 दर्ज कर बड़े बड़े बारदातों में स्नीफर डाग का व्यवहार ना करनेवाली पुलिस, स्नीफर डाग को साथ लेकर बकरियों की तलाश में जुटी दिखी । 2 नंबर सोरुपथार गांव के स्व. गंगा प्रधान के पुत्र रतन प्रधान उर्फ छोटू के घर से पुलिस ने बकरियों की तीन टांगे बरामद करने के साथ ही रतन की मां मीना प्रधान 55 भाई दिनु प्रधान 27 को हिरासत में ले लिया । अपनी पत्नी के साथ डिब्रूगढ़ में किराए के मकान में रहनेवाले रतन प्रधान की तलाश में मोरानहाट पुलिस डिब्रूगढ़ पुलिस के सहयोग से जोरदार अभियान चला रही है । सुत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री कार्यालय असम पुलिस के आला अधिकारियों से मामले की पल पल की जानकारी भी ले रहा है ।