भारत में दृश्य वर्ष 2018 का प्रथम चंद्र ग्रहण

———साधना केन्द्र———

भारत में दृश्य वर्ष 2018 का प्रथम चंद्र ग्रहण 31 जनवरी माघी पूर्णिमा के दिन लगने जा रहा है।
भारतीय समयानुसार ग्रहण का प्रारंभ, सायं 5:18 बजे से होगा।
ग्रहण का मध्य, रात्रि 7:00 बजे तथा
ग्रहण का मोक्ष, रात्रि 8:42 बजे होगा।
यह खग्रास चंद्र ग्रहण पूरे भारत में दिखेगा। धर्मशास्त्र के अनुसार चंद्र ग्रहण का सूतक स्पर्श काल से नौ घंटे पूर्व ही लग जाता है। ग्रहण के सूतक काल में मूर्ति पूजन वर्जित है। ग्रहण काल में भोजन, शयन, यात्ररंभ, नव कार्यारंभ एवं मल मूत्र उत्सर्जन भी शास्त्र के अनुसार वर्जित है। ग्रहण की समाप्ति के उपरांत स्नान दान आदि धर्मकार्य करना चाहिए। यदि पवित्र नदी में स्नान संभव न हो तो पवित्र नदियों के स्मरण के साथ स्नान करने से भी विशेष पुण्य फल की प्राप्ति होती है।
-ग्रहण काल में चंद्र दर्शन से परहेज करें।
-यथासंभव घर के अंदर ही रहें।
-ग्रहण काल में शयन न करें।
-भगवान का ध्यान भजन व मंत्र जप करें।
-चाकू या हंसिया के प्रयोग से परहेज करें।
-क्रोध व व्यर्थ की चिंता से बचें। प्रसन्न रहें।
यह ग्रहण कुल 3 घंटा 23 मिनट रहेगा ।

चंद्रग्रहण प्रारम्भ – शाम 05 : 18
चंद्रग्रहण समाप्त – रात्रि 08 : 42

सूतक प्रारम्भ – सुबह 08 : 18
सूतक समाप्त – रात्रि 08 : 42