मोरान के तिलैई में शौचालय निर्माण का काम नहीं हुवा पुरा, अब भी खुले में शौच करने को मजबूर, ठीकदार और विभाग के अभियंता के साथ धन के लेनदेन का आरोप

राजु मिश्रा 

समाचार संगम ,मोरानहाट, 20 जनवरी :- डिब्रूगढ़ जिले के मोरान विधानसभा क्षेत्र एवं खोवांग उन्नयन खण्ड अंतर्गत जनस्वास्थ्य एवं कारीकरी विभाग के मोरान उपसंगमंडल अंतर्गत तिलैई गांव पंचायत के अधिकांश शौचालयों का निर्माण अधुरा रह गया । आरोपों के अनुसार ठीकदार और विभाग के अभियंता के व्यापक धनों के लेनदेन की वजह से ही निर्माण अधुरे रह गए जिसकी वजह से गरीब ग्रामीणों को वंचित होना पड़ा । उदाहरण स्वरूप पंचायत के 4 नंबर वार्ड राईडांगिया गांव ग्रेजिंग के तुल्य चेतीया, विमल चेतीया, संजय चुतीया, खगेश्वर चुतीया, बिरेन चुतीया, जितेन चुतीया आदि, 1 तथा 2 नंबर डुमरदोलंग वार्ड के रंजीत चुतीया, बेनु चुतीया आदि का शौचालय निर्माण आज तक पुरा नहीं हुवा । उक्त पंचायत क्षेत्र के यह तो महज तीन गांवों के उदाहरण है । पंचायत के अन्य गांवों में भी शौचालय निर्माण अधुरे पड़े है । बताते चले कि 2016 – 17 वर्ष में इन शौचालयों का निर्माण प्रारंभ हुवा था । प्रत्येक शौचालय हेतु बारह हजार रुपये अनुमोदित की गई थी मगर अनामय योजना के ये शौचालय आज तक कार्यकारी नहीं हुवा क्योंकि सीर्फ इटों की दिवार खड़ी कर जिम्मेदारीयां पुरी किए जाने की खानापूर्ति की गई । सरकार ने खुले में शौच ना करने के लिए तीब्र प्रचार अभियान तथा शौचालयों का निर्माण करवाने में जुटी है, लेकिन अधुरे शौचालयों की वजह से क्षेत्र के लोग खेतों और चाय बागानों में खुले में शौच करने को विवश है । क्षेत्र के बहुत से गरीब परिवार अपने खर्च पर शौचालय निर्माण कराने तथा अधुरे शौचालयों को भी पुरा कराने में असमर्थ है । ऐसे में पीएचई तथा ठीकदारों के मिलीभगत से वास्तव हिताधिकारीयों को उपयुक्त शौचालय नहीं मिला वहीं राजनीतिक दबाव की वजह से अधिकांश हिताधिकारीयों का नाम चयनित ही नहीं किया गया ।