भारतीय दर्शक सेमीफाइनल मैच की 38 प्रतिशत टिकटों के खरीदार

नई दिल्ली: आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का पहला सेमीफाइनल बुधवार को कार्डिफ में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेला जाना है. पाकिस्तानी टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद जहां पाकिस्तानी दर्शकों में इस मैच को लेकर काफी उत्साह देखा जा रहा है, वहीं गलीमोरगन क्रिकेट क्लब के प्रधान का कहना है कि इस मैच की सभी टिकटें पहले ही बिक चुकी हैं और एक तिहाई से अधिक खरीदार भारतीय हैं.जीसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हेयो मॉरिस ने कहा कि ‘जब हमें यह मैच आयोजित करवाने के लिए कहा गया तो हमें पता नहीं था कि कौन-सी टीम इसमें भाग लेगी लेकिन दो महीने पहले ही इस मैच की सभी, टिकटें बुक हो गईं और उन्हें खरीदने वाले 38 प्रतिशत लोग भारतीय दर्शक हैं.’भारत की टीम भी सेमीफाइनल में पहुंची है, लेकिन वह अपना मैच 15 जून को बर्मिंघम में खेलेंगी.हेयो मॉरिस ने भारतीय प्रशंसकों से अनुरोध किया है कि अगर वे मैच देखने कार्डिफ मैदान में नहीं आ सकते तो आईसीसी की साइट पर इन टिकटों को उनकी मूल कीमत पर फिर से बेच दें ताकि इंग्लैंड और पाकिस्तान के प्रशंसक यह टिकट खरीद सकें.‘यह इंग्लैंड और पाकिस्तान के समर्थकों के लिए आईसीसी की वेबसाइट से टिकट खरीदने का अच्छा मौका है.’दूसरी ओर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने कार्डिफ मैदान पर आलोचना की है कि टूर्नामेंट के दौरान केवल कार्डिफ ही था जहां सीटें खाली थीं.मैं जब देखता हूं एक मैदान में केवल 14000 सीटें हैं और वह भी नहीं भर सक रही हैं, आप एक बड़े टूर्नामेंट में भी दर्शकों की रूचि पैदा नहीं कर सकते, तो मैं जानना चाहता हूं कि ऐसा क्यों है.’गौरतलब है कि पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच खेले जाने वाला मैच नॉकआउट की तरह था, उसे देखने 10800 लोग मैदान में मौजूद थे.हेयो मॉरिस ने इसका बचाव करते हुए कहा कि कार्डिफ में होने वाले चार में से दो मैच के टिकट पूरी तरह से बिक चुके थे, लेकिन हमें यह पता करना है कि टिकट खरीदने के बावजूद लोग मैच देखने क्यों नहीं आए.उनका मानना था कि ‘हो सकता है कि खराब मौसम की वजह से लोगों ने न आने का फैसला किया हो.’

एक ही छोर पर पहुंचे दोनों बल्‍लेबाज

लंदन: आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान दक्षिण अफ्रीकी पारी के दौरान आज ऐसा मौका आया जब दोनों बल्‍लेबाज एक ही छोर पर पहुंच गए. यह घटनाक्रम कुछ इस तरह हुआ कि मैदान पर मौजूद दर्शकों के चेहरे पर भी हंसी छूट गई. टीम इंडिया ने इस दौरान रनआउट की अपील की तो अम्‍पायर को भी यह फैसला करने में कुछ वक्‍त लग गया कि आखिरकार एक ही एंड पर पहुंचे बल्‍लेबाजों में से कौन रनआउट हुआ है. दोनों अम्‍पायरों ने विचारविमर्श के बाद दक्षिण अफ्रीकी बल्‍लेबाज डेविड मिलर को रन आउट घोषित किया. मिलर केवल एक रन बना सके.दक्षिण अफ्रीका की बल्‍लेबाजी के दौरान यह वाकया पारी के 25वें ओवर में हुआ. ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की गेंद को फॉफ डुप्लेसिस ने शॉर्ट थर्डमैन की तरफ खेला. वे पहले तो रन के लिए दौड़े, लेकिन बुमराह को तेजी से गेंद पर झपटते देख उन्होंने अपना इरादा बदल लिया. इस बीच नॉन स्ट्राइकर छोर से मिलर आधी पिच तक पहुंच चुके थे. उनके पास पलटने का कोई मौका नहीं था इसलिए वे सामने की तरफ दौड़ते रहे.इस बीच फाफ डुप्लेसिस भी पलटे और अपनी क्रीज में वापस लौटने के लिए दौड़े. दोनों बल्लेबाजों को एक ही छोर पर दौड़ते देखकर फैंस लोटपोट हो गए. इस मामले में डुप्लेसिस भाग्यशाली रहे कि वे समय रहते मिलर से पहले क्रीज मे पहुंच गए थे, इसलिए मिलर को रन आउट होकर पेवेलियन वापस लौटना पड़ा. वैसे आज पारी के दौरान दक्षिण अफ्रीकी बल्‍लेबाजों की रनिंग विटवीन द विकेट बेहद खराब रही. यही कारण रहा कि तीन बल्‍लेबाज, कप्‍तान एबी डिविलियर्स, डेविड मिलर और इमरान ताहिर रन आउट हुए.

चैंपियंस ट्रॉफी: दक्षिण अफ्रीका जीत के बाद क्या बोले विराट कोहली

नई दिल्ली: चैंपियंस ट्रॉफी के मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आसान जीत के बाद विराट कोहली ने कहा कि यह संभवत: हमारी टीम का सर्वश्रेष्‍ठ मैच था. टीम इंडिया के कप्‍तान ने कहा कि खिलाड़ियों ने जिस तरह का प्रदर्शन किया उससे मैं बेहद खुश हूं. बर्मिंघम का पिच हमें बेहद पसंद है. हम जिस तरह की क्रिकेट खेलते हैं, उस लिहाज से यह माकूल है. एक अन्‍य सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा कि कोई भी टीम ट्रॉफी को जीत सकती है. उन्‍होंने कहा कि आज हमारी टीम ने अच्‍छा खेल दिखाया लेकिन प्रदर्शन में सुधार की गुजांइश हमेशा बनी रही है. हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम अति आत्‍मविश्‍वासी न बनें. उधर, दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्‍तान एबी डिविलियर्स ने कहा, कुछ भी हमारे मुताबिक नहीं रहा. हम टूर्नामेंट में अपने अभियान को इस तरह खत्‍म नहीं करना चाहते थे. उन्‍होंने आज की हार को दुर्भाग्‍यपूर्ण बताया. उन्‍होंने कहा कि भारतीय टीम ने हमारे ऊपर दबाव बनाए रखा. टीम इंडिया की गेंदबाजी बेहतरीन रही. उन्‍होंने आज हमें पूरी तरह से धराशायी कर दिया. हालांकि उन्‍होंने माना कि दक्षिण अफ्रीकी टीम के कई बल्‍लेबाजों ने आसानी से विकेट गंवाए. इस अहम मुकाबले में मैन ऑफ द मैच चुने गए भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने कहा कि वह इस मैच में मिली जिम्मेदारी से खुश थे. बुमराह ने कहा, “हमारे लिए यह महत्वपूर्ण मैच था. हम शांत रहते हुए अपनी रणनीति को मैदान पर लागू करना चाहते थे. मुझे जो जिम्मेदारी सौंपी गई मैं उससे खुश हूं. जब तक आप टीम में अपना योगदान दे रहे हैं तो अच्छी बात है.” उन्होंने कहा, “हमारी कोशिश अच्छी क्रिकेट खेलने की थी. गेंद ज्यादा स्विंग नहीं हो रही थी, इसलिए मैं अपनी बुनियादी चीजों पर टिका रहा और बल्लेबाजों को मारने के लिए जगह नहीं दी. टॉस जीतना अहम रहा. लक्ष्य का पीछा करना आसान रहा.”

आईपीएल-10 : अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा सकी

मुंबई: सनराइजर्स हैदराबाद की टीम बुधवार को वानखेड़े स्टेडियम में चल रहे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 10वें संस्करण के 10वें मैच में मुंबई इंडियंस के खिलाफ अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा सकी और निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट खोकर 158 रन ही बना सकी। लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई की ओर से ओपनिंग करने पार्थिव पटेल व जोस बटलर आए हैं।बटलर को नेहरा ने बोल्ड कर चलता किया। तब क्रीज पर आए रोहित शर्मा। पांचवें ओवर में राशिद खान ने रोहित शर्मा को गुगली से एलबीडब्लू आउट किया। तब नीतीश राणा क्रीज पर आए। दसवें ओवर में पार्थिव पटेल-34 हुड्डा की गेंद पर भुवनेश्वर को केच दे बैठे। तब क्रीज पर पोलार्ड पहुंचे।

आईपीएल-10 : अपने पहले मैच में जीत के साथ शानदार आगाज

पुणे:  अपने पहले मैच में जीत के साथ शानदार आगाज करने वाली राइजिंग पुणे सुपरजाएंट टीम दूसरे मैच में किंग्स इलेवन पंजाब से हार चुकी है और अब जबकि तीसरे राउंड रोबिन लीग मुकाबले में उसका सामना मंगलवार को दिल्ली डेयरडेविल्स के साथ होना है। पुणे की कोशिश इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 10वें संस्करण में एक बार फिर विजय पथ पर लौटने की होगी। वहीं, दूसरी ओर दिल्ली की टीम भी अपना खाता खोलने के लक्ष्य से मैदान पर उतरेगी।दिल्ली को अपने पहले मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के हाथों हार मिली थी। यह उसका दूसरा मैच है। मुकाबला रात आठ बजे शुरू होगा। स्टीवन स्मिथ की कप्तानी वाली पुणे टीम ने आईपीएल सीजन-10 की शुरुआत जीत के साथ की थी। उसने अपने पहले मैच में मुंबई इंडियंस को सात विकेट से हराया था। दिल्ली की टीम को अपने पहले ही मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू की टीम से 15 रनों से हार का सामना करना पड़ा।हालांकि, इस मैच में दिल्ली ने बेंगलुरू को अच्छी प्रतिस्पर्धा दी और दर्शाया कि अगले मैच में वह और भी मजबूती के साथ उतरेगी। बेंगलुरू के खिलाफ मैच में ऋषभ पंत ने दिल्ली के लिए 57 रनों की अहम पारी खेली थी। दो दिन पहले ही उनके पिता का निधन हुआ था, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने टीम के साथ खेलने का फैसला लिया। इस मैच में आदित्य तारे, करुण नायर और संजू सैमसन जैसे प्रतिभाशाली बल्लेबाजों का सिक्का नहीं चल पाया।